Thought Of The Day For School Assembly in hindi

Hindi thoughts for school assembly best thoughts

Hindi thoughts for school assembly |Ideas for school assembly in Hindi and English. If you want to become more powerful in life, educate yourself. this is easy. Never give up on what you really want to do. A person with a big dream is more powerful than one with all the facts.

यदि आप जीवन में अधिक शक्तिशाली बनना चाहते हैं, तो खुद को शिक्षित करें। यह आसान है। जो आप वास्तव में करना चाहते हैं, उस पर कभी हार न मानें। बड़े सपने वाले व्यक्ति सभी तथ्यों के साथ एक से अधिक शक्तिशाली होते हैं!

क्या सही है, क्या आसान है नहीं। शिक्षक दरवाजा खोलते हैं लेकिन आपको अपने आप को साबित करना होगा! सुबह में सोचा जाने वाला एक छोटा सा पोज़ आपके पूरे दिन को बदल सकता है! 1. Hindi thoughts for school assembly भरोसा खुद पर रखो तो ताकत बन जाती है, दूसरों पर रखों तो कमजोरी बन जाती है।

1. Hindi thoughts for school assembly

भरोसा खुद पर रखो तो ताकत बन जाती है, दूसरों पर रखों तो कमजोरी बन जाती है।

Thought Of The Day For School Assembly in hindi

कोई भी काम तब तक ही असंभव लगता है जब तक की उसको किया नहीं जाता।

Thought Of The Day For School Assembly in hindi

2. Thoughts for school assembly in Hindi and English

हम जैसा सोचते है वैसे ही बन जाते है।

Thought Of The Day For School Assembly in hindi

उद्देश्य हमेशा महान रखें।

3. Hindi thoughts for school assembly with meaning

पंछी पाँव के कारण जाल में फंसते है, लेकिन मनुष्य अपनी जुबान के कारण।

Thought Of The Day For School Assembly in hindi

ईश्वर से प्रार्थना करो के मुझे अधिक लेने के नहीं देने के काबिल बनाओ।

4. Short thoughts for school assembly in Hindi

बाहर की चुनौतियों से नहीं हम अपने अंदर की कमजोरियों से हारते है।

Thought Of The Day For School Assembly in hindi

सफलता का कोई मन्त्र नहीं ये तो केवल परिश्रम का फल है।

5. Best Hindi thoughts for school assembly

मुसीबत के समय शांत रहना ही सबसे बड़ी सफलता है।

Thought Of The Day For School Assembly in hindi

संकट के समय केवल एक मुस्कान शत्रु का आधा बल घटा देती है।

6. Hindi thoughts for school assembly on education

अच्छा काम करते रहो कोई सम्मना करे या न करे।

आपकी अच्छाई सदैव आपके साथ रहती है।

Thought Of The Day For School Assembly in hindi
Thought Of The Day For School Assembly in hindi

पहचान बनानी हैं तो सब का भला सोचो क्यूंकि हर सफल इंसान कभी किसी का बुरा नहीं सोचता।

 

Best Hindi Thoughts for School Assembly

मुश्किल वक्त से हर मान लेना एक प्रकार से कायरता की निशानी होती है।

Thought Of The Day For School Assembly in hindi

चुनौतियां कभी भी हमें कमजोर बनाने के लिए पैदा नहीं होती बल्कि ये मजबूत और कठोर बनाने के लिए पैदा होती है।

सब को पता है की व्यर्थ में समय वक्त करना जीवन के लिए लाभकारी नहीं है परन्तु फिर भी इस चीज को हम नजर अंदाज क्यों कर देते है ?

Thought Of The Day For School Assembly in hindi

कुछ कर गुजरने की इच्छा तभी आपके मन के अंदर आएगी जब आपके इरादे नेक और विश्वास अटूट होगा।

सुखों की वर्षा  सब को प्रिय लगता है पर दुखों की आंधी कोई बर्दास्त नहीं करता ,ऐसा क्यों ये पता नहीं पर ये सत्य है ?

Thought Of The Day For School Assembly in hindi

एक हार से अपने जीवन को नष्ट समझने वाले लोग मुर्ख होते है क्यूंकि वे ये नहीं जानते की हार आपको सफल बनने की मजबूती देती है न की जीवन को नष्ट करने की।

मनुष्य का उतावला पन उसके बने हुआ काम को बिगाड़ देता है।

Thought Of The Day For School Assembly in hindi
Thought Of The Day For School Assembly in hindi

झूठ बोलकर आप दुसरो की नजरों में तो ऊँचा बन जाते हो परन्तु खुद की नजरों में गिर जाते हो।

बिना स्वार्थ के भलाई करने वाला व्यक्ति कभी अज्ञानी और अहंकारी नहीं हो सकता है।

Thought Of The Day For School Assembly in hindi
Thought Of The Day For School Assembly in hindi

याद रखिये की विद्यार्थी जीवन का हर क्षण आपको कुछ नया सीखता है ,तो कृपया ऐसे व्यर्थ ना जाने दे

अपने सपने तो आकाश जितने बड़े होते है ,परन्तु हमारी मेहनत और परिश्रम एक धूल के कण जितने भी नहीं होते है।

Thought Of The Day For School Assembly in hindi

लोग गलतियों से अपने लक्ष्य को भूल जाते है अरे गलतियां कुछ नया सीखती है और उसे सुधारने की सलाह देती है।

आप विद्यार्थी तभी कहलाओगे जब आपके मन में शांति ,धैर्यसीलता  और जिज्ञासुपन होगा।

Thought Of The Day For School Assembly in hindi

हम सक्सेस के लिए मेहनत करते है परन्तु हम उस वक्त अपना हौसला खो कर उस मेहनत को छोड़ देते है जिस वक्त हम सफलता बिल्कुल करीब होते है।

कोयले के समान काला मन रखने वाला व्यक्ति कभी भी दूसरे का बला नहीं सोच सकता।

एक विद्यार्थी के विचार स्वामी विवेकानंद तरह सदैव महान होने चाहिए।

झूठ का काला साया सामने वाले को सिर्फ चंद समय के लिये अँधेरे में रख सकता है।

सफलता वो मंजिल है जिसका रास्ता कभी-भी छोटा नहीं हो सकता।

विध्यार्थी का आकलन उसके अंको से नहीं उसके गुणों से होता है।

ज्ञान रूपी दीपक का प्रकाश अज्ञान रूपी अंधकार को समाप्त कर देता है।

व्यक्ति के कर्मो की स्याही ही उसके पापा और पुण्य को दर्शाती है।

छल और कपट एक निर्गुण व्यक्ति के गुणों में शामिल गुण है।

अहंकारी मन एक पल में आपके जीवन को नष्ट कर सकता है।

सक्सेसफुल बनना है तो और से हट के चीजों को करना सीखो।

ज्ञान का कोई अंत नहीं यह अंनत है।

ज्ञान का कोई अंत नहीं यह अंनत है।

BONUS INSPIRATIONAL THOUGHT OF THE DAY FOR YOU 

पीठ पीछे बुराई आपके व्यक्तित्व को दर्शाती है ना की उस व्यक्ति के।

अक्सर रास्ते से वो भटकते है जिनका लक्ष्य एक नहीं होता है।

मन में गंदे विचारों की धारा हमें कभी भी सही रास्ते की और नहीं लाती है

सफलता दूसरे के बनाये रास्ते पर नहीं खुद के बनाये रास्ते पर मिलती है।

लालच आपको मुर्ख ,अज्ञानी और अहंकारी बना देता है

आज का किया हुआ पाप कल आपको पीड़ा दे सकता है।

हौसला उस पानी की तरह रखो जो पहाड़ जो चिर कर अपना रास्ता बना लेता है।

मजबूत हौसला ही आपको सफलता के किनारे तक लाता है।

कठिन मेहनत ही आपको सफलता की कठिन राहों पर चला सकती है

जो कुछ भी हमने स्कूल में सीखा है, वो सब भूल जाने के बाद भी जो हमें याद रहता है, वो ही हमारी शिक्षा है।

हमेशा याद रखो आप अपनी प्रॉब्लम से कई गुणा बड़े हो।

पैर में से काँटा निकल जाये तो चलने में मजा आ जाता है, और मन में से अहंकार निकल जाये तो जीवन जीने में मजा आ जाता है।

अगर आप एक पुरुष को शिक्षित करते है तो आप सिर्फ एक पुरुष को शिक्षित करते है, लेकिन अगर आप एक स्त्री को शिक्षित करते है तो आप एक पूरी पीढ़ी को शिक्षित करते है।

भीड़ हमेशा उस रास्ते पर चलती है जो रास्ता आसान लगता है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि भीड़ हमेशा सही रास्ते पर चलती है। अपने रास्ते खुद चुनो, क्योंकि आपको आपसे बेहतर कोई नहीं जानता।

शिक्षा का कार्य गहनता से व सूक्ष्मता से सोचने की श्चमता विकसित करना है। बुद्धिमता के साथ सद्चरित्र – यही सच्ची शिक्षा का लक्ष्य है।

जब तुम पैदा हुए थे तो तुम रोये थे जब्कि पूरी दुनिया ने जश्न मनाया था। अपना जीवन ऐसे जिओ कि तुम्हारी मौत पर पूरी दुनिया रोये और तुम जश्न मनाओ।

नहा कर गंगा में सब पाप धो आया, वही से धोये पापो का पानी भर लाया। वह रे इंसान तरीका तेरा समझ में नहीं आया। पाप हमारी सोच से होता है, ना की शरीर से।

ज्ञान वो शक्तिशाली हथियार है, जिस से आप पूरी दुनिया बदल सकते है।

जो लोग खुद अपनी गलती नहीं मानते, उनसे समय उनकी गलतियाँ मनवा लेता है।

गलती नीम की नहीं कि वो “कड़वा” है, खुदगर्जी जीभ की है जिसे “मीठा” पसंद है।

शिक्षा की जड़े कडवी होती है, मगर फल बहुत मीठा होता है।

किसी की निन्दा करने से यह मालूम होता है कि आपका चरित्र क्या है, न कि उस व्यक्ति का।

अच्छा वक्त सिर्फ उन्ही का आता है जो कभी किसी का बुरा नहीं सोचते, सुख-दुःख तो अतिथि है बारी बार से आयेंगे और चले जायेंगे। यदि ये नहीं आयेंगे तो हम अनुभव कहाँ से लायेंगे।

औपचारिक शिक्षा आपको जीवन यापन करने योग्य बनाती है, स्वशिक्षा आपको सफल बनाती है।

दान करने से रुपया जाता है “लक्ष्मी” नहीं, घडी बंद करने से घडी बंद होती है “समय” नहीं।

बिना अपना आपा और आत्मविश्वास खोये, कुछ भी सुन सकने की योग्यता ही शिक्षा है।

झूठ को छुपाने से झूठ छिपता है “सच” नहीं, मुश्किल वक्त का सबसे आसान सहारा है “उम्मीद”।

 

 

 

 

Leave a Comment